Pyar me dhoka shayari | प्यार में धोखा शायरी हिंदी में |प्यार में बेवफा शायरी - All Shayari-Hindi poems,Love shayari,Hindi Quotes,shayari status

Latest

Monday, November 22, 2021

Pyar me dhoka shayari | प्यार में धोखा शायरी हिंदी में |प्यार में बेवफा शायरी

 Pyar me dhoka shayari


Summary - Pyar me dhoka shayari , प्यार में धोखा शायरी हिंदी में,प्यार में बेवफा शायरी ,प्यार में धोखा खाने की शायरि,प्यार मे धोखा शायरी इन हिंदी , प्यार में बदलाव शायरी ,भरोसा धोखा शायरी,प्यार में धोखा शायरी हिंदी ,प्यार में धोखा शायरी फोटो ,pyar me dhokha shayari in hindi , pyar me dhokha sad shayari in hindi, pyar me dhokha shayari hindi sms, pyar me dhokha shayari dp, bharosa rishte dhokha shayari.



ओ सख्स रातों को बर्बाद करता होगा मेरे इंतजार में क्या
उसके बेवफाई के किस्से छपवा दू इस्तेहार में क्या
और जो भी मिलता है इस बला से रात भी हो जाता है
जानी ऐसा ही होता है प्यार में क्या

 

Pyar me dhoka shayari
Pyar me dhoka shayari

शायद तुमको ख्याल नही है
अब पहले जैसा हाल नही है
और जुलुम पर जुलुम बरदास करेगा
ये गांधी वाला गाल नही है

 
ऐसा नही है कि मेरी बात में नही रही तुम
की ऐसा नही है कि मेरी बात में नही रही तुम हॉ मेरे मुस्किलो में मेरे साथ नही रही तुम
और तुमको छोड़ना तो मेरी मजबूरी बन गयी थी
हमने तुमको प्यार किया अवकात में नही रही तुम

 
प्यार मोहब्बत से कोसो दूर
सबको फ्रेंड जॉन में बांधती है
शक्ल तेरी एंड्रॉयड वाली और iphone मांगती है

 

Pyar me dhoka shayari
Pyar me dhoka shayari

तू होकर मोहब्बत मेरी, मेरी नजरो में कैसे रहेगा
ओ हाल बता मुझको तू जैसे रहेगा
और मैने दिल नही तोड़ा मैं नही बेवफा
कोई यकीन नही करेगा बस तू कहता रहेगा

 
मैं घर जाते ही परिंदों को आजाद करूँगा
अब तुझको ना कभी याद करूँगा
और दुनिया मे सो कई काम है कर लूंगा
जानी भूले से ना कभी प्यार करूँगा

 
इस मतलबी दुनिया मे किसी की फिक्र चाहता है कौन करना
और उसकी एक अदा मुझको भुलाई नही जाती
कहती है अगर पहोच जाओ तो फोन करना

 
तेरा हाल जान कर बेहाल हो गए हैं
एक सवाल के कितने सवाल हो गए हैं
और शायद तुझको तो मेरी याद आयी ना होगी
क्या तुझको याद है हमको बिछड़े दो साल हो गए हैं


Pyar me dhoka shayariप्यार में बेवफा शायरी


एक रोज उसको मेरा इंतजार होगा
रो रो कर उसका भी बुरा हाल होगा
और अभी जवां हैं तो हजारों हैं दिल लगाने को
जब होगी आंखों में झुर्रियां तब उसको मलाल होगा


Pyar me dhoka shayari
Pyar me dhoka shayari

तुम्हारे छोड़ जाने के बाद अब इस दिल मे कौन आएगा
मैं जानता हूं तुम्हारे पास नम्बर नही है मेरा
फिर भी उम्मीद रहती है कि फोन आयेगा


मैं हिन्दू ओ मुसलमान
मैं उसको कैसे पाऊंगा दोस्त
वहीं दिखेगी मिस गली जाऊंगा मैं दोस्त
ये कहनें की बांते हैं कि वक्त सब ठीक कर देता है दोस्त
सच तो ये है उससे बिछड़ा तो मर जाऊंगा दोस्त

 

Pyar me dhoka shayari
Pyar me dhoka shayari

ये फूल खिलेगा तो एक रोज उजड़ जाएगा
मायूसी साथ रहेगी तू जिधर जाएगा
और मैं उसे गले लगाते वक्त बहोत रोता था
जानता था ये सख्स एक रोज बिछड़ जाएगा

 
मैं बांतो को तोड़कर गजल बनाऊंगा
घर छोड़ दूंगा जंगल मे सजर बनाऊंगा
और जिसपे भी पड़े मेरी नजर और ओ अपने काँधे का रूपट्टा ना सम्भाले
मैं अपनी नजरों को ऐसी नजर बनाऊंगा

 
बहोत कोसिस की लेकिन चाहत नही बदल पाए हम
बहोत गलत किया जिंदगी में जैसी करनी वैसी भरनी कहावत नही बदल पाए हम
और शराब पीने की वजह से छोड़ दिये हमने सारे अपने
सारे अपनो को  छोड़कर याद अपनी नही रख पाए हम


Read Now - zindagi dard bhari shayari

 

Pyar me dhoka shayari
Pyar me dhoka shayari

मेरा हाल बेहाल करके किस हाल में होगी ओ
और गांव से कल ही खबर आयी थी कि उसकी शादी हो गयी है
अब जाना बेकार है ससुराल में होगी ओ

 
एक मलाल ये भी जुड़ गया मलालो में
ओ सख्स आज दिखा कई सालों में
और मेरी बदनशिबि थी मैं उसको रोक ना पाया
यार ओ मुझकों छोड़ गया था उलझा कर सवालों में
और हमसे कोई उम्मीद ना रखो अच्छा है
अब हमसे कोई उम्मीद ना रखो तो अच्छा है परिंदे फंसते नही आजाद होकर जा रहा हूं मैं
सच्चाई दुड़ोगे तो एक रोज मर ही जाओगे
यार झूठ ही तो मिलता है अखबारों में

Shayari by sohail Ahmad

No comments:

Post a Comment