शराब शायरी sharabi status | sharabi shayari | sharab shayari - All Shayari-Hindi poems,Love shayari,Hindi Quotes,shayari status

Latest

Sunday, October 31, 2021

शराब शायरी sharabi status | sharabi shayari | sharab shayari

शराब शायरी & Sharabi status


Sharabi status
Sharabi status

मेरा पहला इश्क थी शराब दूजा इश्क भी शराब है
मैखानो से यारी अपनी लोग कहने लगे अरे लड़का जरा सी खराब है
की लोग कहने लगे है कि लड़का जरा सा खराब है
और सुनो ये अपनी हुस्न का गुरुर किसी और को दिखाना तुम्हारे हुस्न का मेरी शराब ही जवाब है 

पैदा कहीं पापा की परी हुईं ।

की पैदा कहीं पापा की परी हुईं तो कहीं माँ की आंख का सितारा हुआ
दिल से दिल मिला
की दिल से दिल मिला आंख से इशारा हुआ
कितनी जाहिन थी ई लड़की ये लड़का आवारा हुआ
और ठुकरा दी जब उसने मोहब्बत तो शराब का सहारा हुआ 


Hindi sharabi shayari
Hindi sharabi shayari

तेरे दिए हुए घाव को हम युही सी गए
तेरे आने की आस में उम्मीद से ज्यादा ही जी गए
और ये जानते हुए भी की हमारे शराब में जहर मिला है
थोड़ा चखना लिया और नाम लिया बस पी गए


मोहब्बत करो तो दिल से निभाओ 

किसी का समय बर्बाद मत करो
उड़ जाए तो खुले आसमान में परिंदे को इतना भी आजाद मत करो
और गिर जाऊ मैं एक ही जाम से
पैमाने में इतनी शराब मत भरो
और मुझसे पूछ रहे हो आशिकी क्या है
अबे यार पीने दो दिमाग खराब मत करो


Sharabi shayari
Sharabi shayari

गमो की सुई कुछ इस तरह चुभ रही है मेरे सीने में
की अब तकलीफ हो रही है मुझे जीने में
जाओ और उसे जा कर कह दो
की अब जरूरत नही मुझे उसकी मेरे पास मेरी sharab है लगाने के लिए मेरे सीने से ।।


उसे लगा कि मै उसके बिना एक पल भी नही जी सकता
की उसे लगा कि मै उसके बिना एक पल भी नही बिता सकता हूं
मगर नियति बत्तमीज बेसरम और शराबी हूं मैं
दो खुट पीकर उसे भुला सकता हूँ मै


जब दिल तोड़ा उसने सोचा कि मैं टूटकर टुकड़ो में पिखर जाऊंगा
की जब दिल तोड़ा उसने सोचा कि मैं टूटकर टुकड़ो में पिखर जाऊंगा उसे अंदाजा नही है मेरी बत्तमीजी का मैं शराब पिऊंगा फिर सुकून से घर जाऊंगा


तुम्हारी लत ऐसी लगी मुझे
की तुम्हारी लत ऐसी लगी मुझे तुम्हारे सिवा सब फीका हो गया
की जिस डाल पर सुखाया था रूपट्टा अपना
ओ निम का पेड़ भी आज मीठा हो गया
की सोचा नही था कि कभी जुदा होंगे हम
शराब इतना पिया की घर ही ठीका हो गया

Sharabi status And Sharabi shayari 


एक किस्सा खत्म हो गया।।
की एक किस्सा खत्म हो गया मगर पुरी किताब बाकी है
कुछ ख्वाब तो पूरे हो गए मगर एक ख्याब है
ये दिन तो पूरा ढल जाने अभी आफताब बाकी है
महेफिल छोड़कर मत जाना मेरे यारो
की महेफिल छोड़कर मत जाना मेरे यारो मोहब्बत की बात हुई है अभी sharab बाकी है

मुझे याद है ओ पल जब तुमने मुझे तन्हा ही छोड़ दिया
और तेरी कुछ यादों ने दर बदर इस कदर भटका दिया
बड़े सीधे आदमी थे हम ।
की बड़े सीधे आदमी थे हम और आज sharabi बना दिया


की सांसे चलती है बदन में हरकत नही होती
ये खुद को मारकर जिना कैसा है
और ये शराब मुझे मीठी लगती है
ये बताओ ज हर पीना कैसा है

मैं उसकी दिल की धड़कन
मैं उसकी दिल की धड़कन से अपनी धड़कन का पैगाम लूंगा
उसे जब ओ टूट जाएगी ना इश्क में उसके
तो अपनी बाहों में आराम लूंगा
और मुझे पिलाने वाले ये भी सुन ले गौर से
जो उसने होंठो से छुआ था वही जाम लूँगा

Sharabi status
Sharabi status

पहला जाम और खामोस करती है शराब
की पहला जाम और खामोस करती है शराब दूसरा जाम और मदहोश करती है शराब
तीसरा जाम और आक्रोश भरती है शराब
बुलाओ कौन है
बस और कुछ जाम फिर बे होश करती है sharab


उसके दिए जख्मो को
उसके दिए जख्म को भूला लेना
और उसे छूने से बेहतर है हाथ जला लेना
और महफिल सजाओ शायर बुलाओ
जब लाओ sharab तो मुझे बुला लेना

अच्छ तो उसकी बारात है
माफ करना मेरी बची हुई थोड़ी शराब है
और कैसे ले जाओगे उसके घर तक मुझे
कल रात से पी रहा हूं जनाब तबियत थोड़ी खराब है

की मेरा पहला ishqe थी शराब दूजा इश्क भी sharab है
मैखानो से यारी अपनी
लोग कहने लगे हैं कि अजी लड़का जरा सा खराब है
और सुनो ये अपने हुश्न का गुरुर किसी और पर दिखाना
तुम्हारे हुश्न का मेरी शराब ही जवाब है 

 

Sharab shayari
Sharab shayari

रकीब के नाम की मेहँदी उसकी हाथो में सजी है
और हमारी बेबसी का सबक देखो जनाब उसकी ही शादी में जाके पूछा sharab बची है

की मेरी नींद मेरी चैन मेरी खुशि मेरी सुकून सब छीन लिया तुमने 

और कितना और तड़पाओगी
नफरत तो हम रखते नही दिल मे
तलवार दूँ या अपबे शब्दों से काम चलाओगी
और बड़ी दिनों बाद आई हो मिलने और कितनी देर में जाओगी
पानी तो पीते नही हम अब शराब दूँ या खून चूसकर जाओगी

एक दफा भी ना आजमाया मैने 

उसने मुझे पूरा परचा लिया
और उसकी माँ ने देखा था मुझे कोल्डड्रिंक पीते हुए
उन्होंने तो कोहराम मचा लिया कहा शराबी , शराबी हो तुम
कह कर मुझसे अपना दामन बचा लिया
डेढ़ साल बाद मिली और पूछने लगी कैसे हो
मैने कहा मर जाता पगली ओ तो शराब ने बचा लिया 


शराबी शायरी हिंदी & sharabi status


ओ नही है जरूरी ।
ओ नही है जरूरी मेरे जीने के लिए
जख्म बहोत है कुछ नही है सीने के लिए
और पानी से अक्सर मुझे बीमारिया हो जाती हैं
इसलिए विस् जरूरी है शराब पीने के लिए


Sharabi status
Sharabi status

की Teri यादों के मंजर मुझे बड़ा रुलाते हैं
तेरे साये मेरे रूह से लिपट जाते हैं और तू अपनी कसम देकर मेरी शराब छुड़ाती है
मेरे दोस्त तेरी कसम देकर मुझे पिलाते हैं

दर्ज होती हैं कहानियां अधूरी मोहब्बत की

मुकम्मल मोहब्बत सदियों तक चर्चे नही रहते
देखकर खुस हमें ओ हैरान रह जाते हैं
उन्हें कौन बताये सूखे पेड़ों के पत्तो पर असर नही रहतें
तकलिंफ गैरो को कौन कब तक दिखायेगा
आंसू अब दिल मे रहतें है आँखों से नही बहतें
क्या शिकवा करना अब किसी और से
की क्या शिकवा करना अब किसी और से जमाना बुरा सही मगर खुद को भी हम अच्छा नही कहते
मर्ज ठीक हो जाते इश्क के मरीजों के यार इस दुनिया क्यो शराब के झरने नही बहतें  

Sharabi shayari
Sharabi shayari

और सजी जो महफ़िल कभी 

और सजी जो महफ़िल कभी तो उस शाम बेवफा तू मुझे पूरी बदनाम चाहिए
यू तो ना बोल पाऊंगा तेरे बारे में कुछ गलत
उस महफिल में बस शराब का इंतजाम चाहिए


तुम्हे लगता है तुम्हारे गम बड़े हैं
आओ बैठो हम बतलाये जिंदगी खराब क्या होती है
तुम रखते हो हिसाब अपनी तकलीफ का
आओ बैठो हम बतलाये तकलीफे बेगिसाब क्या होती
हम तो देखकर आएं हैं
की हम तो देखकर आये हैं गमे जुदाई
आओ बैठो हम एक तरफा मोहब्बत क्या होती है
यूही नही बना लेता हूं हर किसी को अपना मैं
आओ बैठो हम बतालये दोस्ती आम और खास क्या होती है
और तुम कहते हो शराब बुरी क्या होती है
और तुम कहते हो शराब बुरी चीज है
आओ बैठो हम तहजीबे शराब क्या होती है


 कुछ अजीब ही सुकून के पल आज मिल रहे हैं 

हाथ मे जाम के साथ आसमान में तारें जो खील रहें हैं
ये महफील पूरी रात लगेगी
कह यहाँ सभी के दिल रहें हैं
मैं होस में हूं यारो मुझे मत सम्भालो
मुझे सम्भालो यारो मैं होस में हूं शहर को पकड़ो सभी घर क्यों हिल रहे हैं 

No comments:

Post a Comment